• 2015-16 में  सर्वाधिक उच्च परम्परागत विद्युत् क्षमता अभिवृद्धि  23,976
  • 18,452 अविद्युतीकृत गाँव में 2015-16 में विद्युतीकृत गावँ 7,108
  • 2015-16 में सर्वाधिक न्यूनतम कमी
  • 2014-15 में दो वर्ष से अधिक सब स्टेशन क्षमता में सर्वाधिक उच्च वृद्धि 128,403 एमवीए
  • 2015-16 में परेशान लाइनों में सर्वाधिक उच्च वृद्धि  28,114 सी.के.एम

विद्युत मंत्रालय के बारे में

विद्युत मंत्रालय ने दिनांक 2 जुलाई, 1992 से स्वतंत्र रूप से कार्य करना शुरू किया। इससे पूर्व इसे ऊर्जा स्रोत मंत्रालय के नाम से जाना जाता था। वि़द्युत भारत के संविधान की सातवीं अनुसूची की सूची-III में प्रविष्टि 38 पर दिया गया समवर्ती सूची का विषय है। विद्युत मंत्रालय प्रमुख रूप से देश में वैद्युत ऊर्जा के विकास के लिए उत्तरदायी है।

और देखें

नरेंद्र मोदी
भारत के प्रधानमंत्री

पीयूष गोयल

राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)
विद्युत, कोयला, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा, खान